15 नवंबर तक हाईकोर्ट फ्लाई ओवर में शुरू हो जाएगा यातायात

---Ads----

शहरियों को अगले माह बड़ी राहत मिलने जा रही है। क्योंकि हाईकोर्ट फ्लाई ओवर पर 15 नवंबर तक यातायात के लिए खोल दिया जाएगा। सोमवार को कैंट के सब एरिया मुख्यालय में सेना और जिला प्रशासन के अफसरों की बैठक में कहा गया कि हाईकोेर्ट फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य इस माह के अंत तक पूरा हो जाएगा। 15 नवंबर तक फ्लाईओवर यातायात के खोल दिया जाएगा।

बीते कई माह हाईकोर्ट फ्लाइओवर के निर्माण का कार्य चल रहा है। इस वजह से कानपुर रोड पर आवागमन के लिए लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है। सात अगस्त से कानपुर रोड पर रूट डायवर्जन कर दिए जाने से कैंटोमेंट एवं खुसरोबाग होकर लोग निकल रहे हैं। इससे हर रोज घंटों जाम भी लग रहा है। सोमवार को हुई बैठक  में सेना ने कैंटोमेंट में और ज्यादा पुलिस कर्मी तैनात करने को कहा। इस पर एसपी ट्रैफिक ने अपनी हामी भर दी। सेना के अफसरों ने कहा कि यातायात बढ़ जाने से उनकी सड़कों पर गड्ढे हो गए हैं। इसकी शीघ्र ही मरम्मत करा दी जाएगी। बैठक में शंभू बैरक के पास ट्रैफिक सुगम बनाने पर चर्चा की गई। किले में सेना कर्मियों और उनके परिवार वालों के लिए मेला अवधि में पास आदि बनाने पर विचार हुआ। ओल्ड कैंट में स्पीड ब्रेकर एडीए द्वारा बनाए जाने की बात कही गई। मंडलायुक्त आशीष गोयल द्वारा सेना की पहल पर वॉर बुक के बिंदुओं को अपटेड करा देने के भी निर्देश दिए गए।

बैठक में एल्गिन रोड के बंगला नंबर एक के साथ अन्य कई स्थानों पर सेना की ली गई भूमि के बराबर मूल्य की भूमि दिए जाने पर भी चर्चा हुई। मंडलायुक्त ने कहा कि जल्द ही सेना से ली गई भूमि के एवज में अधिकांश भूमि हस्तांरित कर दी गई है। अब केवल 13.8 एकड़ भूमि ही स्थानांतरित करनी बाकी है। सेना द्वारा शास्त्री ब्रिज की भूमि पर बसी अनाधिकृत मलिन बस्ती को पुर्नवासित कराकर उस स्थान को खाली करवाने की भी रणनीति बनाई गई। बड़े हनुमान मंदिर के पास ओवर हेड टैंक बनाने पर भी चर्चा हुई। इस दौरान मेला से पूर्व  किले की दीवार को लेजर शो के लिए साफ और सुंदर बनाने के प्रस्ताव के साथ संगम क्षेत्र पर हवाई सुरक्षा पर भी चर्चा की गई। बैठक में सैन्य अफसरों के साथ डीएम सुहास एलवाई, एडीए वीसी भानु चंद्र गोस्वामी, मेलाधिकारी विजय किरन आनंद, डीआईजी कुंभ केपी सिंह आदि मौजूद रहे।

---Ads----

Comments