संतों का आशीर्वाद लेने आए सुरेश, देखे निर्माण कार्य

---Ads----

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बाद अब सूबे के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के संतों का आशीर्वाद लिया। बृहस्पतिवार को संगमनगरी पहुंचने पर उन्होंने अखाड़े-अखाड़े जाकर वहां जारी स्थायी निर्माण कार्यो का जायजा लिया। निर्माण कार्य की गुणवत्ता देखी तो संतों से कार्य की प्रगति और जरूरतों के बारे में भी बात की। संतों ने स्थायी निर्माण कार्य पर संतोष तो जताया लेकिन जरूरतों के लिए और धनराशि की भी मांग की। कहीं संत निवास, शौचालय बनने हैं तो कहीं हाल, विश्राम गृह। संतों की सुनने के बाद मंत्री सुरेश खन्ना ने उन्हें भरोसा दिलाया कि सरकार ‘भव्य कुंभ-दिव्य कुंभ’ के लिए कटिबद्ध है। संतों को किसी भी तरह की असुविधा नहीं होने पाएगी। पंद्रह अक्तूबर तक सभी कार्य पूरे करा लिए जाएंगे।

सबसे पहले वह कीडगंज स्थित पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन पहुंचे। यहां महंत महेश्वर दास, महंत अग्रदास, महंत व्यास मुनि, महंत शिवानंद आदि ने उनका स्वागत किया। यहां भगवान चंद्र के पूजन के बाद वह निर्मल पंचायती अखाड़ा पहुंचे। यहां से अखाड़ा नया उदासीन गए जहां जगतार मुनि ने उनका स्वागत किया। तकरीबन बारह बजे वह जूना अखाड़े के मौजगिरि आश्रम पहुंचे और शिव, सभी संतों की समाधियों, देवी और भगवान दत्तात्रेय का पूजन किया। यहां संरक्षक महंत हरिगिरि, महंत विद्यानंद सरस्वती, महंत प्रेमगिरि आदि ने स्वागत के बाद उन्हें निर्माण कार्यों की जानकारी। धीमी गति दिखने पर उन्होंने समय से काम पूरा कराने का भरोसा दिलाया।

दारागंज में पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी पहुंचकर उन्होंने निर्माण कार्य देखे। सचिव महंत रामसेवक गिरि, सचिव महंत जमुनापुरी ने उनके स्वागत के बाद उन्हें मुख्यमंत्री के नाम दो पत्र सौंपे। इसके तहत भगवती अलोपशंकरी को नगर देवी और संगम को विश्व धरोहर का दर्जा दिलाने के लिए प्रयागराज सेवा समिति की ओर से चलाए जा रहे अभियान के लिए समर्थन मांगा। इसी क्रम में उन्होंने दारागंज के मोरी गेट के करीब पंच निर्मोही अखाड़े, पुराने गंगाभवन पर निर्वाणी अणी के भवन निर्माण, बख्शी खुर्द स्थित अटल अखाड़े की जमीन पर होने वाले निर्माण की भी जानकारी ली। इस दौरान महंत राजेंद्र दास, महंत धर्मदास, महंत घनश्याम दास ने उन्हें जानकारी दी। बांध स्थित निरंजनी अखाड़े में महंत आशीष गिरि ने उन्हें निर्माण कार्यों के बारे में बताया। वह आवाहन अखाड़े के मडैका स्थित भूमि पर बन रही चहारदीवारी को देखने भी गए, जहां महंत सत्यगिरि ने उनका स्वागत किया और जानकारी दी।

मठ बाघंबरी गद्दी पहुंचने पर महंत नरेंद्र गिरि ने उनका स्वागत किया। फिर उन्होंने भोले का अभिषेक, पूजन और फिर सभी अखाड़ों केप्रतिनिधियों के साथ भोजन किया। वह आनंद अखाड़ा भी गए जहां महंत राजेश्वरानंद ने स्वागत किया और चाय पिलाई। निरीक्षण के दौरान अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि, सचिव महंत हरिगिरि, कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’, महापौर अभिलाषा गुप्ता, नगर निगम कार्यकारिणी उपाध्यक्ष रतन दीक्षित के अतिरिक्त मंडलायुक्त, कुंभ मेला अधिकारी, नगर आयुक्त समेत अनेक अफसर मौजूद थे।

पंचअग्नि दशनाम अखाड़ा ने बैरहना में संत निवास के लिए एक मकान खरीदा है, जिसे पूरी तरह से ध्वस्त क राकर तकरीबन एक करोड़ 81 लाख रुपये से संत निवास बनवाया जाएगा। मंत्री सुरेश खन्ना ने वैदिक मंत्रोच्चार के बीच संत निवास का भूमि पूजन किया। कार्यक्रम में अध्यक्ष महंत गोपालानंद ब्रह्मचारी, सचिव गोविंदानंद सहित अन्य संत मौजूद थे।

निर्मल पंचायती अखाड़ा पहुंचने पर सचिव महंत देवेंद्र सिंह शास्त्री ने मंत्री सुरेश खन्ना को सरोपा भेंट कर उनका अभिनंदन किया। बातचीत के दौरान महंत नरेंद्र गिरि के आग्रह पर उन्होंने भजन ‘बोल हरि, बोल हरि, केशव माधव गोविंद बोल’ सुनाकर सभी को आनंदित किया।

अखाड़ों में चल रहे निर्माण कार्य को देखने पहुंचे मंत्री का सभी अखाड़ों ने अपनी-अपनी तरह स्वागत किया। कहीं उन्होंने चाय, कॉफी पी तो कहीं पकौड़े चखे। मठ बाघंबरी गद्दी में उन्होंने भी संतों के साथ सादा भोजन किया। पनीर, लौकी की सब्जी के साथ खीर, हलुआ भी चखा।

निरीक्षण के दौरान मंत्री सुरेश खन्ना ने सभी अखाड़ों में मौजूद संतों, प्रतिनिधियों का सरकार की ओर से शाल ओढ़ाकर स्वागत किया। वहीं अखाड़ों की ओर से स्वस्ति वाचन के बाद शाल ओढ़ाकर और तिलक-चंदन लगाकर उनका स्वागत किया गया।

---Ads----

Comments