LU मारपीट केस: HC ने मामले में लिया स्वत: संज्ञान, DGP ने सीओ को हटाया; चौकी इंचार्ज निलंबित

---Ads----

लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय में बुधवार को छात्रों द्वारा विश्वविद्यालय परिसर में हंगामा करने और मारपीट करने के मामले में हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने स्वत: संज्ञान लेते हुए पुलिस महानिदेशक व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को तलब करते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। कोर्ट ने कहा विश्वविद्यालय प्रशासन ने घटना होने का पहले ही अंदेशा व्यक्त कर दिया था तो फिर पुलिस ने घटनास्थल पर तत्काल पहुंच कर कार्यवाही क्यों नहीं की।

-विश्वविद्यालय में घटना के बाद सुरक्षा बहाल करने के लिए अब तक क्या कदम उठाये गये हैं। इसके साथ ही विश्वविद्यालय के कुलपति, रजिस्ट्रार और प्रॉक्टर को भी मामले में सहयोग करने के लिए सुनवाई के समय कोर्ट में उपस्थित रहने को कहा है। कोर्ट ने मुख्य स्थायी अधिवक्ता रमेश पांडे को विश्वविद्यालय एवं पुलिस के अफसर के सूचित करने का आदेश दिया और मामले की सुनवाई के लिए शुक्रवार को प्रातः 10.15 बजे का समय दिया है।

कुलपति ने डीजीपी से की मुलाकात: लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति व शिक्षकों ने DGP से मुलाकात की। डीजीपी ने विश्वविद्यालय चौकी इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया है वहीं, सीओ महानगर अनुराग सिंह का गैर जनपद में तबादले का निर्देश दिया है। DGP ने पूरे मामले की जांच आईजी रेंज लखनऊ को सौंपी है। डीजीपी ने वीसी से यूनिवर्सिटी में पठन-पाठन शुरू करने की अपील की की है साथ ही सुरक्षा का भरोसा दिलाते हुए कहा कि उपद्रवियों को जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

क्या है मामला:बुधवार को लखनऊ विश्वविद्यालय में बाहरी छात्रों और पूर्व छात्रों ने घुसकर जमकर हंगामा करते हुए शिक्षकों के साथ मारपीट की थी। हमले में प्रॉक्टर, डीन ऑफ सोशल वर्क (DSW) और डीन सीडीसी घायल हो गए थे। हंगामे के बाद अगले आदेश तक लखनऊ विश्वविद्यालय को बंद कर दिया गया था।

---Ads----

Comments