देशभर के 41 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के 5606 पद खाली

---Ads----

Latest Govt Jobs Upadtes :

देशभर के 41 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 5606 शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। ओडिशा विश्वविद्यालय में सबसे अधिक 88.96 फीसदी पद खाली हैं। इसके अलावा हरियाणा में 76 फीसदी, यूपी में 60 फीसदी और हिमाचल प्रदेश में 60.64 फीसदी पदों पर शिक्षक नहीं हैं।

देशभर के 41 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 5606 शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। ओडिशा विश्वविद्यालय में सबसे अधिक 88.96 फीसदी पद खाली हैं। इसके अलावा हरियाणा में 76 फीसदी, यूपी में 60 फीसदी और हिमाचल प्रदेश में 60.64 फीसदी पदों पर शिक्षक नहीं हैं।

खास बात यह है कि सामान्य वर्ग में 3372 तो एससी में 783, एसटी में 427, ओबीसी में 776 पद रिक्त हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय से केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के खाली पदों की रिपोर्ट के मुताबिक, पुराने केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के पद सबसे अधिक खाली पड़े हुए हैं।

उत्तर प्रदेश में तीन केंद्रीय विश्वविद्यालय में 1346 पद खाली हैं। इसमें इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में शिक्षकों के सबसे अधिक 570 पद खाली हैं। जनरल वर्ग में 387, एससी में 50, एसटी में 17 तो ओबीसी में 90 पद खाली पड़े हुए हैं।

वहीं, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में कुल स्वीकृत  1930 पदों  में से 1534 शिक्षक सेवाएं दे रहे हैं। बीएचयू में 396 खाली पद में से 351 जनरल वर्ग के पद खाली पड़े हैं। बीएचयू में एससी व एसटी आरक्षित सीटों पर औसतन अधिक शिक्षक सेवाएं दे रहे हैं।

जामिया और अलीगढ़ में सामान्य वर्ग के पद खाली

उधर,  बाबा साहब भीम राव अंबेडकर विश्वविद्यालय में कुल 205 पद स्वीकृत हैं, जिसमें से 168 पद पर शिक्षक तैनात है। कुल 37 खाली पद में से 23 पद जनरल वर्ग के हैं। यहां एससी में 10 तो एसटी वर्ग में छह पद खाली हैं।

जामिया और अलीगढ़ में सामान्य वर्ग के पद खाली 
जामिया मिल्लिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय केंद्रीय विश्वविद्यालय हैं और दोनों को ही केंद्र सरकार अल्पसंख्यक संस्थान नहीं मानती हैं। लेकिन यूजीसी नियमों का उल्लंघन जारी है। जामिया में  कुल 827 स्वीकृत पद हैं, जिसमें से 144 पद रिक्त हैं।

इसमें जनरल के 137 तो चार पद दिव्यांग वर्ग के खाली हैं। जबकि अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कुल 1626 स्वीकृत पद हैं। यहां कुल 343 रिक्त पदों में से सामान्य वर्ग के 321 पद खाली हैं। जबकि एससी, एसटी वर्ग में शिक्षकों को सेवा का मौका नहीं मिलता है।

हरियाणा  में सामान्य के 105 तो एससी के 27 पद खाली

हरियाणा में एकमात्र सेंट्रल यूनिवर्सिटी में कुल 225 स्वीकृत  पदों में से 171 पद खाली पड़े हुए हैं। इसके तहत 76 फीसदी शिक्षकों के पद खाली है। इसमें सामान्य वर्ग में 105, एससी में 27 तो एसटी के 13 पदों पर शिक्षक नहीं हैं।

हिमाचल में 188 मेंसे 114 पद खाली 
हिमाचल प्ररदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय में कुल 118 स्वीकृत पद हैं, जिसमें से 114 पद खाली हैं। इसमें जनरल वर्ग के 73, एससी के 16, एसटी में सात पद रिक्त हैं।

– जम्मू से अधिक कश्मीर विश्वविद्यालय में पद खाली
जम्मू विश्वविद्यालय में 157 स्वीकृत पदों में से 61 पद खाली हैं। इसमें से सामान्य वर्ग में 40, एससी में 11 तो एसटी में पांच पद रिक्त हैं। जबकि कश्मीर विश्वविद्यालय में 51.32 फीसदी पद खाली हैं। यहां कुल 152 स्वीकृत पद हैं, जिसमें से 78 पद खाली हैं। इसमें से सामान्य वर्ग में 48, एससी में 13, एसटी में छह पदों पर शिक्षकों की कमी है।

उत्तराखंड विश्वविद्यालय में 43.16 पद खाली

हेमवंती नंदन बाहुगुना गढ़वाल विश्वविद्यालय में कुल 468 स्वीकृत पदों में से 202 खाली हैं। इसमें 72 पद सामान्य वर्ग हैं, लेकिन इसमें अस्सिटेंट पद में सामान्य वर्ग के शिक्षकों की संख्या अधिक हैं। जबकि एससी वर्ग में 52 तो एसटी में 30 पद खाली हैं। वहीं, ओबीसी में 72 पद खाली हैं।

दिल्ली में डीयू में सबसे अधिक पद खाली  
दिल्ली विश्वविद्यालय में कुल 1706 स्वीकृत पदों में से 810 पद खाली हैं। इसमें सामान्य वर्ग में 389 पद, एससी में 167 तो एसटी में 90 और ओबीसी में 133 पद रिक्त हैं। उधर, जेएनयू में कुल 892 स्वीकृत पद में से 307 पद खाली हैं। इसमें 67 पद एससी तो एसटी में 44 शिक्षकों के पद रिक्त पड़े हुए हैं।

For more Latest Govt Jobs update visit our site regular

---Ads----

Comments