विजय दिवस: शहीदों के परिजनों को सीएम ने किया सम्मानित, कहा- शौर्य और पराक्रम से दुश्मनों को परास्त करने वाले जवानों को नमन

---Ads----

योगी आदित्यनाथ ने कहा- कारगिल विजय दिवस भारत के सम्मान का दिवस है।

विजय दिवस: शहीदों के परिजनों को सीएम ने किया सम्मानित, कहा- शौर्य और पराक्रम से दुश्मनों को परास्त करने वाले जवानों को नमन

योगी आदित्यनाथ ने कहा- कारगिल विजय दिवस भारत के सम्मान का दिवस है।

DainikBhaskar.com | Last Modified – Jul 26, 2018, 12:11 PM IST

विजय दिवस: शहीदों के परिजनों को सीएम ने किया सम्मानित, कहा- शौर्य और पराक्रम से दुश्मनों को परास्त करने वाले जवानों को नमन

लखनऊ.कारगिल विजय दिवस के मौके पर सीएम  ने देश के प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों को नमन किया। इसके साथ ही सीएम ने शहीदों के परिजनों को सम्मानित भी किया। शहीद स्मारक गोमती तट पर आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी ने शहीद कैप्टन मनोज पांडेय के भाई मनमोहन पांडेय, शहीद राइफल मैन नरनारायण जंग के परिजनों को सम्मानित किया।

शहीदों को नमन: मुख्यमंत्री ने कहा, मैं कारगिल विजय दिवस पर सभी शहीदों को नमन करता हुं। आज इस कार्यक्रम में भाग लेने पर मैं गर्व महसूस कर रहा हूं। कारगिल विजय दिवस भारत के सम्मान का दिवस है। मैं अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। हर व्यक्ति यह जनता है कि कारगिल की स्थितियां भारत के प्रतिकूल नहीं थी, लेकिन भारत माता के बहादुर जवानों के साहस के कारण आज के दिन कारगिल युद्ध पर हमने विजय प्राप्त की थी। मैं धन्यवाद दूंगा दिनेश शर्मा जी को की उन्होंने कारगिल शहीदों के लिए यह पार्क का निर्माण किया।

– हमें प्रयास करना चाहिए कि 17 नगर निगमों में शहीदों के नाम का पार्क होना चाहिए, जिससे आज की पीढ़ी वीर शहीदों के बारे में जान सके। शहीदों के संकल्प के साथ अपने आप को जोड़ने के लिए हमें हर समय प्रयास करना चाहिए।

शहीदों ने बढ़ाया देश का मान: वही, मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि आज के दिन हम उन शहीदों को नमन करते हैं जिन्होंने देश का मान बढ़ाया। उनके परिवार को भी नमन करते हैं।

सीएम योगी ने किया ट्वीट: योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए कहा, देशवासियों को गौरवान्वित करने वाले “कारगिल विजय दिवस” के अवसर पर हिमालय की दुर्गम पहाड़ियों पर अपने अद्भुत शौर्य और पराक्रम से दुश्मनों को परास्त करने वाले सभी भारतीय जवानों को नमन। मातृभूमि के प्रति आपकी निष्ठा और समर्पण से यह राष्ट्र सदैव सुरक्षित और गौरवान्वित महसूस करता है।

---Ads----

Comments